नमक से दूर करें घर की समस्याएं

भारत से लेकर विदेशों तक अपने ज्ञान और उसके पीछे छिपे साइंटिफिक एप्रोच से लोगों की ज़िन्दगी में एक सकारात्मक बदलाब लाने वाले वास्तु कंसलटेंट श्री मनोज जैन वास्तु रीडर के साथ होलिस्टिक कोच, ऑरा रीडर और लाइफ कोच भी हैं।
नमक एक ऐसा पदार्थ है जिसके बिना कितना भी स्वादिष्ट भोजन हो तो वह बे-स्वाद लगता है। थोड़ा सा नमक आपके खाने को लजीज बना देता है। जब से नमक की खोज हुई है, तभी से यह माना जाता रहा है कि इसमें नकारात्मक ऊर्जा को दूर करने की अद्भुत शक्ति होती है। नमक एक ऐसा पदार्थ है जो व्यक्ति की प्रतिदिन की ऊर्जा को बनाएं रखता है। वास्तु विज्ञान के अनुसार, नमक घर में सकारात्मक उर्जा का संचार करता है और सुख समृद्धि भी बढ़ाता है। आइये जानतें हैं मनोज जैन से कैसे और कहां करना है नमक का इस्तेमाल…
यदि किसी को नजर लग गई है, तो एक चुटकी नमक लेकर तीन बार उसके ऊपर से घुमाकर बाहर फेंक दें। कहते हैं इससे नजर उतर जाती है।
हफ्ते में एक दिन पानी में चुटकी भर नमक मिलाकर बच्चों को नहलाएं, तो बच्चों ने नजर नहीं लगेगी और स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां भी कम होंगी।
वास्तु विज्ञान के अनुसार शीशे के प्याले में नमक भरकर शौचालय में रखने से वास्तुदोष दूर होता है। दरअसल, नमक और शीशा दोनों ही राहु की वस्तु हैं और राहु के नकारात्मक प्रभाव को दूर करती हैं। राहु, केतु की दशा चल रही हो या जब मन में बुरे-बुरे विचार या डर पैदा हो रहे हों, तो शीशे के बर्तन में नमक भरकर घर के किसी कोने में रख दें। सकारात्मक उर्जा का संचार होगा। वास्तु विज्ञान के अनुसार, रॉक साल्ट लैंप का इस्तेमाल करने से घर में सकारात्मक ऊर्जा बढ़ती है। यह परिजनों के बीच आपसी ताल-मेल, सुख-समृद्धि बढ़ाता है और स्वास्थ्य संबंधी मामलों में भी यह कारगर पाया गया है।