घर की सही दिशा में लगाएं घड़ी

भारत से लेकर विदेशों तक अपने ज्ञान और उसके पीछे छिपे साइंटिफिक एप्रोच से लोगों की ज़िन्दगी में एक सकारात्मक बदलाब लाने वाले वास्तु कंसलटेंट श्री मनोज जैन वास्तु रीडर के साथ होलिस्टिक कोच, ऑरा रीडर और लाइफ कोच भी हैं।
समय को बताने का काम करने वाली घड़ी अगर दिशाहीन हो जाये तो घर में चल रहा अच्छा समय भी बुरे वक्त में बदल सकता है। घर के सभी सदस्य घड़ी को देखकर ही अपने सभी कार्य समय पर कर पाते हैं। हमारी दिनचर्या तभी ठीक हो पायेगी जब घड़ी सही दिशा में लगी होगी। घर की शुभता के लिए घड़ी का उचित दिशा में लगा होना जरूरी है। तो आइये जानते हैं मनोज जैन से वास्तु के अनुसार घड़ी लगाने की सही दिशा –
वास्तु विज्ञान में उत्तर और पूर्व दिशा को वृद्धि की दिशा माना गया है। इसलिए घड़ी उत्तर या पूर्व दिशा की दीवार पर लगाएं।
घर में हरे अौर अॉरेज रंग की अौर दुकान में काले अौर डार्क नीले रंग की घड़ी नहीं लगानी चाहिए। इससे घर अौर दुकान में नकारात्मक ऊर्जा का वास होता है।घर में पेंडुलम वाली घड़ी लगाने से व्यक्ति के जीवन का बुरा समय दूर होता है अौर उन्नति के नए अवसर मिलते हैं।
घर में बंद घड़ी नहीं रखनी चाहिए। इससे घर की नकारात्मक ऊर्जा में वृद्धि अौर सकारात्मक ऊर्जा में कमी आती है। इसके साथ ही ऐसी घड़ी व्यक्ति की प्रगति में रूकावट बनती है। घर की सारी बंद पड़ी घड़ियों को घर में न रखें। इसके साथ ही घड़ी पर धूल भी नहीं जमनी चाहिए।
घर के हॉल में चौकोर अौर शयन कक्ष में गोल घड़ी लगानी चाहिए। ऐसा करने से घर में शांति अौर प्यार बना रहता है।