वास्तु दोष का कारण बन सकते है घर में मकड़ियों के जाले,रखे इन बातों का ध्यान

भारत से लेकर विदेशों तक अपने ज्ञान और उसके पीछे छिपे साइंटिफिक एप्रोच से लोगों की ज़िन्दगी में एक सकारात्मक बदलाव लाने वाले मनोज जैन अंधविश्वास को खत्म करना चाहते हैं , और हरबात के पीछे छिपे लॉजिक को आपके सामने रखते हैं,वास्तु कंसलटेंट श्री मनोज जैन वास्तु रीडर के साथ होलिस्टिक कोच, ऑरा रीडर, लाइफ कोच भी हैं.

हम सभी अपने घर की सुंदरता को बढ़ाने के लिए तरह तरह के एक्सपेरिमेंट करते रहते हैं , कभी घर का इंटीरियर चेंज कराते है तो कभी एक्सटीरियर और रोज काम वाली बाई के साथ लग कर घर चमका ते हैं पर हम अक्सर घर की साफ़ सफाई में घर के छत और कोनों को ज्यादातर नजरअंदाज कर देते हैं। छत या कोने, मकड़ियों के रहने व जाला बुनने के पसंदीदा स्‍थान होते हैं। अक्सर हम जाला हटाने में आलस कर जाते हैं,वास्तु गुरु मनोज जैन बताते हैं की यही मकड़ियों के जाले घर में वास्तु दोष का कारण बनते हैं। लोगों को यह कहते सुना जाता है कि हम मेहनत तो बहुत करते हैं, लेकिन उसका फल नहीं मिलता। कमाया हुआ धन बचता ही नहीं है। इन परेशानियों का कारण आपके घर में ही मौजूद हो सकता है। इस ओर हम कभी ध्यान ही नहीं देते। ऐसा ही एक दोष है, घर में लगा मकड़ी का जाला।
वास्तु गुरु मनोज जैन बताते हैं की धार्मिक मान्यतानुसार भी , घर में लगा मकड़ी का जाला अशुभता की निशानी है। वास्तु शास्‍त्र की मानें, तो मकड़ी का जाला घर में वास्तुदोष उत्पन्न करता है। ज्योतिषशास्‍त्र कहता है कि यह घर में नकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाने के साथ-साथ बीमारियों को भी न्यौता देता है। घर के सदस्यो में हमेशा आलस, स्वभाव में चिड़चिड़ापन, नकारात्मक विचार आने के पीछे भी यह वजह हो सकता है। ज्योतिषशास्‍त्र की मानें, तो जिस घर में मकड़ी के जाले लगे होते हैं, उस घर में रहने वाले लोगों का दिमाग ठीक प्रकार से काम नहीं करता। वह हमेशा जाले की तरह उलझा हुआ रहता है। इससे सोचने-समझने की शक्ति भी प्रभावित होती है व निर्णय लेने की क्षमता पर भी असर पड़ता है। पारिवारिक जीवन में तनाव का एक बड़ा कारण मकड़ी का जाला भी होता है। यह परिवार के सदस्यों को मानसिक रोगी भी बना सकता है।

अपने अक्सर देखा होगा कि हम धन तो जोड़ते हैं, लेकिन जोड़ा गया धन व्यर्थ के कामों में खर्च होता रहता है। लाख कोशिश के बाद भी धन संचित नहीं हो पाता। इसकी वजह भी मकड़ी का जाला हो सकती है। यह कार्यों में असफलता, बनते काम बिगड़ने, स्वास्‍थ्य में उतार-चढ़ाव बने रहने का भी एक प्रमुख कारण हो सकता है। यदि घर में मकड़ी का जाला लगा हो, तो उसे तुरंत हटा दें। यह घर के बच्चों के स्वास्‍थ्य पर भी असर डालता है, व उनका दिमागी विकास भी बाधित करता है। मनोज जैन के अनुसार, जिस भी घर में मकड़ी जाला बनाने लगती है, उस घर पर दुर्भाग्य का साया मंडराने लगता है। मान्यता है कि घर में मकड़ी के जाले नहीं होना चाहिए, यह अशुभता को बढ़ाते हैं। घर में मकड़ी के जाले लगे होने के पीछे धार्मिक कारण तो हैं ही, वैज्ञानिक कारण भी है।

मकड़ी के जालों की संरचना कुछ ऐसी होती है कि उसमें नकारात्मक ऊर्जा एकत्रित हो जाती है। घर के जिस भी कोने में मकड़ी के जाले होते हैं, वह कोना या हिस्सा नकारात्मक ऊर्जा से भर जाता है। इस कारण घर में कलह, बीमारियां व अन्य कई समस्याएं पैदा होती हैं। मकड़ी के एक जाले में बीमारी फैलाने वाले असंख्य सूक्ष्मजीव रहते हैं, जो कि कई तरह की बीमारियों को न्यौता देते हैं। मकड़ी का जाला घर में होने से घर की सुख-समृद्धि में कमी आती है। यह घर में नकारात्मक ऊर्जा का एक चक्रव्यूह बना देता है।इसलिए घर में मकड़ी का जाला लगा हो, तो उसे जल्द से जल्द हटाए।