बार बार नींद टूटने के पीछे का कारण हो है सकता वास्तु दोष

भारत से लेकर विदेशों तक अपने ज्ञान और उसके पीछे छिपे साइंटिफिक एप्रोच से लोगों की ज़िन्दगी में एक सकारात्मक बदलाब लाने वाले वास्तु कंसलटेंट श्री मनोज जैन वास्तु रीडर के साथ होलिस्टिक कोच, ऑरा रीडर और लाइफ कोच भी हैं।
नींद इंसान की दिनचर्या का एक जरुरी हिस्सा अगर एक दिन भी इंसान की नींद पूरी नहीं होती तो उसका स्वभाव बदल जाता है नींद को लेकर एक कहावत है ना सोने जैसा सुख ना जगने जैसा दुःख अगर इंसान की नींद पूरी हो जाती है तो उसका पूरा दिन अच्छा जाता है। अगर नींद अच्छी आती है, तो अगले दिन की शुरुआत अच्छी होती है। हर काम में मन लगा रहता है। जो लोग गहरी नींद में सोते हैं, उठने के बाद उनकी ऊर्जा उतनी ही अधिक होती है। नींद का आपके बिस्तर से गहरा संबंध होता है।
तो आइये जानते हैं मनोज जैन से वास्तु के अनुसार अच्छी नींद के लिए क्या उपाय किए जाएं। 

बेड को यदि गलत दिशा में रखा जाए, तो यह घर में वास्तुदोष भी उत्पन्न कर सकता है। साथ ही इस पर सोने वाले व्यक्ति को ठीक से नींद भी नहीं आती है, जिससे मानसिक तनाव होता है। वैवाहिक जीवन में परेशानियां व बीमारियां भी इसकी वजह से हो सकती हैं। बेड का सिरहाना पूर्व या दक्षिण की ओर होना चाहिए। जबकि गेस्ट रूम में बेड का सिरहाना पश्चिम की ओर हो सकता है। अगर बेड लकड़ी का है तो और भी अच्छा है। धातु का बेड नकारात्मक ताकतें पैदा करता है। अपने बेडरूम में गोल या अंडाकार शेप का बेड न रखें। बेड में हमेशा सिर टिकाने की जगह होनी चाहिए। सोते वक्त कभी अपने पीछे खिड़की खोलकर न सोएं। बिस्तर के ऊपर की छत गोल नहीं होनी चाहिए। कमरे के दरवाजे के ठीक सामने पलंग नहीं रखना चाहिए। यदि दरवाजे के सामने पलंग लगा है, तो इससे वास्तुदोष उत्पन्न होते हैं। इससे आर्थिक समस्या, मानसिक तनाव, बीमारी आदि समस्या बनी रहती हैं। यदि पलंग का स्थान बदल पाना संभव न हो, तो दरवाजे पर पर्दा डालकर रखें। बेड के ठीक सामने ऐसा शीशा नहीं होना चाहिए। यह पति-पत्नी के रिश्तों पर बुरा असर डालता है। यदि पलंग के सामने ऐसा कांच हो, जिसमें प्रतिबिंब दिखाई देता हो, तो उस पर कपड़ा डालकर सोना चाहिए। यदि आपके पलंग के ठीक ऊपर छत का बीम है, तो पलंग को वहां से शिफ्ट कर लेना चाहिए। बीम के नीचे सोने पर आपके मस्तिष्क पर भार पड़ता है। नींद ठीक से नहीं आती है और तनाव बढ़ता है, थकान दूर नहीं होती है। आजकल बेडरूम में ज्यादा इलेक्ट्रॉनिक सामान जैसे टीवी, फ्रिज, कंप्यूटर आदि नहीं रखनी चाहिए। दरअसल, ये वस्तुएं नकारात्मक ऊर्जा को आकर्षित करती हैं, जो व्यक्ति को रोगी बना सकती हैं। वास्तु के अनुसार, बेडरूम में पानी से संबंधित तस्वीर नहीं लगानी चाहिए। ऐसा करने पर धन हानि होने की संभावनाएं बढ़ती हैं। पलंग पर यदि खाने की वस्तु या पानी रखते हैं, तो यह भी हानि पहुंचाता है। इससे आर्थिक समस्या, बीमारी, रिश्तों मे तनाव आदि समस्या हो सकती हैं। पलंग का सिरहाना और बिस्तर आरामदायक होना चाहिए। यदि सिरहाना ठोस लकड़ी का होगा, तो ज्यादा शुभ रहता है। बेड की ऊंचाई न तो बहुत ज्यादा होना चाहिए और न ही बहुत कम।

अगर आप अपने दैनिक जीवन और वैवहिक जीवन में सुखी रहना चाहतें है तो आज से ही ऊपर बताई गयी वास्तु की बातों को ध्यान में रखकर अपना बेडरूम ठीक कर ले और पूरी रात अच्छी नींद का मजा लें। इसके बाद जब आप सुबह उठेंगे तो खुद को एक दम सकारात्मक ऊर्जा से भरा हुआ पाएंगे।